Aachar Sanhita Rajasthan 2024 | राजस्थान लोकसभा चुनाव आचार संहिता लागू, आई बड़ी अपडेट

By Vijay Singh Chawandia

Updated on:

Aachar Sanhita Rajasthan 2024: राजस्थान में 25 सीटों के लिए होने वाले लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारी अंतिम दौर में है। हर व्यक्ति जानना चाहता है कि राजस्थान लोकसभा चुनाव कब होंगे और राजस्थान में आचार संहिता कब लगेगी।

WhatsApp Group Join Us
Telegram Group Join Now

राजस्थान में मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन हो गया है। 16 मार्च को आचार संहिता लग गई है, यानी चुनाव की तारीखों की घोषणा हो जाएगी।

Aachar Sanhita Rajasthan 2024

Lok Sabha Elections 2024 Rajasthan: लोकसभा चुनाव 2024 की तैयारी को लेकर जहां राजनीतिक पार्टियां अपनी ताकत झोंकने के लिए तैयार हैं. वहीं, चुनाव आयोग भी अपनी कमर कस रहा है. आयोग ने सूचना जारी की है कि लोकसभा चुनाव में आचार संहिता उल्लंघन मामले में किसी तरह से बख्शा नहीं जाएगा.

आपको बता दें, चुनाव आयोग कभी भी लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान कर दिया है। राजस्थान में 2 चरणों में चुनाव होगा। पहले चरण की वोटिंग 19 अप्रैल को होगी, वहीं दूसरे चरण की वोटिंग 26 अप्रैल को होगी। चुनाव कार्यक्रम की घोषणा के साथ ही तत्काल प्रभाव से आचार संहिता लग गई है। 4 जून को चुनाव के परिणाम आएंगे। 2019 में भी राजस्थान में दो चरणों में चुनाव हुए थे।

Lok Sabha Elections Rajasthan

19 अप्रैल को 12 सीट पर वोटिंग श्रीगंगानगर, बीकानेर, चूरू, झुंझुनूं, सीकर, जयपुर ग्रामीण, जयपुर, अलवर, भरतपुर, करौली-धौलपुर, दौसा, टोंक-सवाई माधोपुर।

26 अप्रैल को 13 सीट पर वोटिंग अजमेर, नागौर, पाली, जोधपुर, बाड़मेर, जालोर, उदयपुर, बांसवाड़ा, चित्तौड़गढ़, राजसमंद, भीलवाड़ा, कोटा, झालावाड़-बारां एवं एक विधानसभा सीट पर उपचुनाव होगा।

राजस्थान लोक सभा चुनाव 2024 आचार संहिता कब लगेगी

आचार संहिता 16 मार्च को लागु हो चुकी है, एवं चुनाव तारीख की घोषण भी हो गई हे, इसके बाद राजस्थान में आचार संहिता से जुड़े प्रतिबन्ध लागु हो गए है।

Lok Sabha Chunav Aachar Sanhita Kab Lagegi

राजस्थान में बागीदौरा विधानसभा सीट पर उपचुनाव भी होगा, यहा 26 अप्रैल को मतदान होगा और 4 जून को ही परिणाम आएंगे। यह सीट महेंद्रजीत सिंह मालवीया के कांग्रेस से भाजपा में शामिल होने के कारण खाली हो गई थी।

मार्च में लगेगी आचार संहिता और वोट गणित समीकरण

★ भारत में कुल 96 करोड़ 88 लाख वोटर है।
★ जिनमे से पुरुष मतदाता की संख्या  49 करोड़ 72 लाख 31 हजार 994 है ।
★ महिला मतदाता की संख्या 47 करोड़ 15 लाख है ।
★ इस लोकसभा चुनाव में 55 लाख EVM मशीनों का प्रयोग किया जायेगा ।
★ वही इस चुनाव में पहली बार 1 करोड़ 84 लाख 81 हजार नए मतदाता वोट देंगे ।
★ इस लोकसभा चुनाव में 10.5 लाख पोलिंग स्टेशन होंगे ।
★ वही सीनियर 85 साल से अधिक के मतदाता घर से वोट डाल सकेंगे ।
★ वही चुनावी उम्मीदवारों का अपना आपराधिक रिकॉर्ड दर्शाना होगा ।

आदर्श चुनाव आचार संहिता क्‍या है? आज से पूरे देश में हो जाएगी लागू, जानें नियम और शर्तें

1) क्या होती है आचार सहिंता:

चुनाव आयोग की ओर से स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव कराने के लिए कुछ नियम बनाए जाते हैं, जिनकी पालना हर प्रत्याशी और हर पार्टी को करनी पड़ती है। बस इन्हीं नियमों को आचार संहिता कहते हैं। लोकसभा और विधानसभा चुनावों के दौरान सभी पार्टियों, नेताओं और सरकारों को इन नियमों का पालन करना ही होता है।

2) कब लागू होती है:

आदर्श आचार संहिता चुनावी तारीखों की घोषणा के बाद तत्काल प्रभाव से लागू हो जाती है। इन तारीखों की घोषणा चुनाव आयोग करता है। चुनाव की प्रक्रिया के पूरे होने तक आचार संहिता लागू रहती है।

3) किसी कर्मचारी का ट्रांसफर किया जा सकता है:

ये काम भी आचार संहिता में नहीं किया जा सकता। अगर कर्मचारी का स्थानांतरण बेहद जरूरी है तो निर्वाचन आयोग से परमिशन लेनी पड़ती है।

4) आचार सहिंता में किस तरह का प्रचार किया जा सकता है:

प्रत्याशी या कोई भी नेता अपने चुनाव प्रचार के दौरान आपसी नफरत पैदा कर देने वाली गतिविधियों में शामिल नहीं होगा। ऐसा कोई काम नहीं कर सकेगा, जिससे विभिन्न जातियों और समुदायों में नफरत फैले। किसी भाषा का अपमान, और अन्य दलों पर झूठे आरोप भी नहीं लगा सकेगा।

5) कहां-कहां लागू होती है:

अगर लोकसभा चुनाव हो तो जाहिर है पूरे देश में आचार संहिता लागू होगी। विधानसभा चुनाव हो तो संबंधित राज्य में आचार संहिता लागू होती है। उपचुनाव के दौरान केवल संबंधित क्षेत्र में ही लागू होती है, पूरे राज्य में नहीं

योजनाओं से जुड़ी अपडेट प्रतिदिन पाना चाहते है?Yes / No

WhatsApp Group Join Us
Telegram Group Join Now

Vijay Singh Chawandia

I am a full time blogger, content writer and social media influencer who likes to know about internet related information and history.